22 October 2015

How to reach Simsa Mata || Simasa mata Address || Simsa Mata phone Number || Simasa Mata Himachal Pradesh || Contact Amit Kumar +918146121718

शिशु दात्री शारदा माता सिमसा

विभिन विविधाताओं से भरे हुए भारत में कई चीज़े ऐसी है जो वैज्ञानिक तथ्यों और तर्कों से दूर नज़र आती है। अब इसे भगवान में विश्‍वास कहें या फिर अंधविश्‍वास, लेकिन ऐसे ही विज्ञान को हैरान करने वाला मंदिर हिमाचल के जिला मंदिर की लडभड़ोल तहसील के सिमस गांव में स्थित है जो सिमसा माता मंदिर के नाम से जाना जाता है। इस मंदिर की पुरानी मान्‍यता है कि निसंतान महिलायें सिमसा माता मंदिर के फर्श पर सोकर संतान का सुख प्राप्त करती हैं। आइये हम आपको इस मंदिर की पूरी कहानी बताते है।


यह मंदिर लड़भडोल से 9 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। कहा जाता है की इस मंदिर के फर्श पर सोने पर निसंतान महिलाओं को संतान की प्राप्ति हो जाती है। "सलिन्दरा" नामक यह त्यौहार साल में दो बार होने वाले नवरात्रों में आयोजित होता है। नवरात्रों में हिमाचल के साथ-साथ पडोसी राज्यों के कई निसंतान दम्पति संतान सुख पाने के लिए इस मंदिर का रुख करते है। पहले यह मंदिर कुछ स्थान तक ही प्रसिद्ध था लेकिन इंटरनेट की वजह से अब यह पुरे भारत में प्रसिद्ध हो चुका है। सिमसा माता को को माता शारदा संतान दात्री के नाम से भी पुकारा जाता है।बैजनाथ से इस मंदिर की दूरी 25 किलोमीटर तथा जोगिन्दर नगर से दूरी लगभग 50 किलोमीटर है।


चैत्र व शरद नवरात्रों में होने वाले इस उत्सव को लोकल भाषा में सलिन्दरा कहा जाता है, जिसका मतलब है सपना आना। नवरात्रों में निसंतान महिलायें मंदिर में आकर रहती करती हैं और सुबह-शाम पूजा करते हुए सिमसा माता के प्रागण के फर्श पर ही सोती हैं। बताया जाता है जो महिलाएं सिमसा माता पर भरोसा रखती हैं और पूरी श्रद्धा से माता की पूजा-अर्चना करती हैं सिमसा माता उन्हें सपने में किसी रूप में दर्शन देकर संतान प्राप्ति का आशीर्वाद देती है। यदि कोई महिला सपने में कोई फल प्राप्त करती है तो इसका मतलब यह माना जाता है कि महिला को माता सिमसा से संतान प्राप्ति का आशीर्वाद मिल गया है। बताया तो ये भी जाता है सिमसा माता सपने में ही संकेत दे देती है की लड़की होगी या लड़का।


पुरानी मान्यता के अनुसार, अगर महिला को अमरूद का फल मिलता है, तो वह लड़का होगा, अगर सपने में भिंडी मिले तो इस बेटी का सुख माना जाता है। यह भी कहा गया है कि अगर किसी महिला को सपने में धातु, लकड़ी या पत्थर से बना कुछ भी प्राप्त होता है, तो उसे समझना चाहिए कि उसके बच्चे नहीं होंगे।


अगर किसी महिला को सपने में संतान ना होने का संकेत मिल गया है तो वह महिला मंदिर मेंनहीं रह सकती। कहा जाता है की अगर निसंतान बने रहने का सपना प्राप्त होने के बाद यदि कोई महिला मंदिर से बिस्तर हटाकर बाहर नहीं जाती है तो उस महिला के शरीर में लाल दाग पड़ना शुरू हो जाते हैं, जिनमें बहुत ज्यादा खुजली होती है। ऐसा होने पर महिला को खुद ही वहां से जाना पड़ता है। संतान प्राप्ति का आर्शिवाद प्राप्र्त कर चुकी महिलायें बच्चे के जन्‍म के बाद अपने पुरे परिवार के साथ सिमसा माता का धन्‍यवाद करने के लिए वापिस मंदिर में भी आती हैं।


कैसे पहुंचे सिमसा माता :
अगर आप हिमाचल प्रदेश से बाहर किसी दूसरे राज्य के निवासी है तो हम आपको बता दे आपको सिमसा माता मंदिर पहुंचने के लिए आपको दिल्ली और चंडीगढ़ से बस में आना होगा| दिल्ली के महाराणा प्रताप बस अड्डे से आपको बैजनाथ के लिए बस पकड़नी होगी। दिल्ली से बैजनाथ से कुल दूरी लगभग 550 किलोमीटर है| बस यह दूरी पूरी करने में लगभग 13 घण्टे लगाती है। फिर बैजनाथ पहुंचकर आपको सिमसा माता के लिए लोकल बसें मिल जाएगी। सिमसा माता मंदिर बैजनाथ से लगभग 32 किलोमीटर दूर स्थित है| ऐसे से चंडीगढ़ से आने के लिए आपको सेक्टर 43 के काउंटर नंबर 16 से बैजनाथ के लिए बस पकड़नी होगी। चंडीगढ़ से बैजनाथ की दूरी लगभग 350 किलोमीटर है।

रेल द्वारा :
अगर आप रेल द्वारा आना चाहते है तो सिमसा माता के सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन पठानकोट है। इसलिए आपको भारत के किसी भी हिस्से से आना है तो आप सबसे पहले पठानकोट कैंट स्टेशन पर पहुंचिए उसके बाद वहां से आपको बस द्वारा हिमाचल के बैजनाथ आना होगा। पठानकोट से बैजनाथ की दूरी लगभग 130 किलोमीटर है। बैजनाथ पहुँचने के बाद आपको सिमसा माता मंदिर के लिए लोकल बस या टैक्सी मिल जाएगी। बैजनाथ से सिमसा माता मंदिर की कुल दूरी लगभग 32 किलोमीटर है। संतान प्राप्ति के लिए आने वाली महिलाओं को मंदिर के फर्श पर सोना होता है तथा उनके साथ आने वाले सदस्यों के लिए सिमसा माता मंदिर कमेटी द्वारा रहने के लिए सराय आदि बनाई गयी है।




विशेष सुचना : ध्यान रहे की सिमसा माता मंदिर में संतान प्राप्ति का यह त्यौहार साल में दो बार चैत्र नवराते व शरद नवराते में ही आयोजित होता है। अगर आपको मंदिर में संतान प्राप्ति के लिए आना तो सिर्फ नवरातों में ही आएं। लेकिन सिर्फ दर्शन के लिए मंदिर पूरा साल खुला रहता है।

सिमसा माता मंदिर के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए कृपया इस नंबर पर +918146121718 पर सम्पर्क करे। हम आपको विस्तार से पूरी जानकारी देंगे।


Tags : How to reach Simsa Mata || Simasa mata Address || Simsa Mata phone Number || Simasa Mata Himachal Pradesh || Contact Amit Kumar +918146121718





loading...
Post a Comment Using Facebook