22 October 2015

निजी बसों की हड़ताल का लडभड़ोल क्षेत्र में मिला जुला असर लेकिन लोगों को हुई परेशानी

लडभड़ोल : निजी बसों की हड़ताल का लडभड़ोल क्षेत्र में भी मिला जुला असर देखने को मिला है। निजी बसों के पहिये जाम होने का खामियाजा यात्रियों को उठाना पड़ा है। यहां से लडभड़ोल, ऊटपुर, तुलाह, नेरी लांगना, पंडोल, चोबीन, बैजनाथ आदि की तरफ जाने वाली कई निजी बसें बंद रही। जल्द समस्या न सुलझने पर स्थिति भयावह हो सकती है।

सुबह से ही हड़ताल के कारण आम लोगों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। गांव ऊटपुर से लडभड़ोल की ओर जाने वाले यात्रियों अमित, आकाश, हैप्पी, अरुण, रिंकू, राहुल, को जब बस नहीं मिली तो पता चला कि आज हड़ताल है। ऐसे ही बैजनाथ जाने वाले कुछ यात्री बस नहीं मिलने के चलते वापस चले गए और कुछ अन्य साधनों से लडभड़ोल व बैजनाथ गए। लोगों को निजी गाड़ियों और टैक्सियों से अपने गंतव्य तक पहुंचना पड़ रहा है। निजी बसों की हड़ताल के दौरान HRTC की बसें यात्रियों के लिए सहारा बनी।

लंबे रूट के यात्रियों को अधिक दिक्कतें हुईं। बता दें कि पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी-किराया न बढ़ने से नाराज प्राइवेट बस ऑपरेटरों ने हड़ताल की है। लडभड़ोल क्षेत्र में कहीं भी प्राइवेट बसें नहीं चल रही हैं। लडभड़ोल में बने पेट्रोल पंप पर कई बसें खड़ी नज़र आयी ।

हिमाचल प्राइवेट बस आपरेटर यूनियन के महासचिव रमेश कमल ने कहा है कि सोमवार को कांग्रेस और माकपा द्वारा बुलाए गए भारत बंद का प्राइवेट बस ऑपरेटर यूनियन की हड़ताल से कोई लेना देना नहीं है। यह हड़ताल पूरी तरह गैर राजनीतिक है। हम अपने हक की लड़ाई लड़ रहे हैं।





loading...
Post a Comment Using Facebook