22 October 2015

उपरीधार व पीहड-बेहड़लु पंचायत ने मात्र 22 वर्षीय प्रत्याशी के हाथ में सौंपी बीडीसी की बागडोर

लडभड़ोल : लडभड़ोल क्षेत्र से सबसे युवा प्रधान और युवा जिला परिषद की खबर तो आपने बहुत सुनी और पढ़ीं होंगी लेकिन आज हम लडभड़ोल क्षेत्र की सबसे युवा बीडीसी सदस्या के बारे में आपको बताने जा रहे हैं। इस वर्ष हुए पंचायत चुनाव को युवाओं का चुनाव कहा जाए तो गलत नहीं होगा। क्योंकि हर क्षेत्र से बहुत सारे युवा उम्मीदवार चुनकर आये हैं।

मात्र 22 वर्ष की उम्र में जीता चुनाव
लडभड़ोल क्षेत्र की ऊपरी-धार व पीहड-बेहड़लु पंचायत से बीडीसी सदस्य के लिए ग्रामीणों ने क्षेत्र की बागडोर पहली बार किसी युवा प्रत्याशी के हाथ में सौंपी है। इन दोनों पंचायतों से बीडीसी सदस्या के लिए करसाल गांव निवासी मधु देवी ने जीत दर्ज की है। मधु देवी मात्र 22 वर्ष की है और एमकॉम की पढाई कर रही है। वह लडभड़ोल क्षेत्र में सभी पंचायतों में सबसे कम उम्र की बीडीसी सदस्या बनी हैं।

मैदान में थे कुल 3 उम्मीदवार
उपरीधार व पीहड-बेहड़लु पंचायत से इस बार बीडीसी सदस्य के लिए 3 उम्मीदवार चुनाव मैदान में थे। आरक्षण तय होने के बाद सीट के लिए शुरू से मारामारी शुरू हो गई थी। दो ग्रामसभाओं के अंतर्गत बनी इस सीट के लिए आखिरकार ग्रामीणों ने इस बार क्षेत्र की कमान युवा हाथों में सौंपी दी। कुमारी मधु देवी को कुल 1121 मत हासिल हुए। उनके निकटवर्ती सीमा देवी को 795 मत हासिल हुए। इसके अलावा अन्य एक अन्य प्रत्याशी सरोज कुमारी को 644 मत हासिल हुए।

करसाल में जुटी भीड़
मधु देवी का यह पहला चुनाव था। दोपहर को काउं​टिंग पूरी होने के बाद परिणाम घोषित होते ही उनके गांव करसाल में खुशी की लहर दौड़ पड़ी। शाम को घर पहुंचते ही ढोल नगाड़ों के साथ उनका स्वागत किया गया तथा उनकी आरती उतारी गयी। जीत की खबर मिलते ही करसाल में भारी संख्या में ग्रामीण जुटे थे।

पूरा करुँगी हर वादा
मधु ने क्षेत्रीय जनता द्वारा उन्हें उनके पहले चुनाव में दिये गये प्यार व समर्थन को लेकर सभी का आभार व्यक्त किया है। मधु ने कहा कि जिस वायदे के साथ वह जनता के बीच समर्थन मांगने के लिए गयी थी उस वायदे को पूरा करने का भरसक प्रयास करेंगी। जनता ने जिन उम्मीदों के साथ उन्हें चुना है वह उसके लिए हमेशा प्रयासरत रहेंगी।

आप यह खबर लडभड़ोल.कॉम वेबसाइट पर पढ़ रहे थे।







loading...
Post a Comment Using Facebook