22 October 2015

सांढापत्तन में ब्यास पर बन रहा हिमाचल का सबसे बड़ा कैंटीलीवर पुल, जल्द होगा तैयार

लडभड़ोल : जोगिंदरनगर विधानसभा क्षेत्र को धर्मपुर विधानसभा क्षेत्र से जोड़ने वाले सांढापत्तन पुल का निर्माण कार्य जल ही पूरा होने वाला है। पुल न होने से अभी ब्यास जे दूसरी तरफ बसे संधोल, स्योह, बैरी, कमलाह आदि स्थानों में जाने के लिए फ़िलहाल सैकड़ों किलोमटेर का सफर करके धर्मपुर होते हुए जाना पड़ता है। पुल बनते ही ब्यास नदी के दूसरी तरफ बसे क्षेत्रों की दूरी महज चंद किलोमीटर रह जाएगी।

लगभग 23 करोड़ है पुल की लागत
22. 85 करोड रूपए की लागत से बन रहे इस पुल का निर्माण कार्य 60 प्रतिशत पुरा हो गया है। ब्यास नदी के ऊपर बन रहे इस 180 मीटर लंबे इस पुल के दोनों तरफ फुटपाथ भी बनेगा जिससे पैदल यात्री पुल को आसानी से पार कर पाएंगे। पुल की चौडाई डबल लेन के बराबर होगी जिसमे दोनों तरफ से दो बड़े वाहन एक समय में इसे पार कर पाएंगे। आप यह खबर लडभड़ोल क्षेत्र की सबसे लोकप्रिय वेबसाइट लडभड़ोल.कॉम में पढ़ रहे है।

हिमाचल का सबसे बड़ा कैंटीलीवर पुल
ख़ास बात यह है की यह पुल प्रदेश का सबसे बड़ा कैंटीलीवर पुल होगा। जिसमें पुल के दोनों छोरों पर 65-65 मीटर के कैंटीलीवर बनाये जा रहे है। कैंटीलीवर का अर्थ यह हुआ की पुल का एक छोर ही पिलर के सहारे होगा तथा दूसरा हवा में रहेगा वैसे ही दूसरी तरफ भी सिर्फ एक छोर पिलर के सहारे होगा तथा दूसरा हवा में रहेगा। इस तरह पुल के छोर बीच में आपस में मिलेंगे। नदी के बीच में कोई पिलर नहीं बनाया गया है।

मार्च 2021 है पूरा करने का लक्ष्य
लोक निर्माण के सहायक अभियंता राहुल ठाकुर ने बताया की इस पुल का निर्माण कार्य मार्च 2016 में शुरू हुआ था जिसे पूरा करने की निर्धारित सीमा 3 साल थी जोकि मार्च 2019 में पूरी हो गयी लेकिन किन्हीं कारणों से इस पुल के निर्माण कार्य में देरी हुई है। अब इस पुल का निर्माण कार्य पूरा करने का समय मार्च 2021 तक है। उन्होंने कहा कि इस पुल के बनने से लडभडोल से संधोल की दूरी मात्र 16 किलोमीटर तथा लड़भडोल से स्योह की दूरी मात्र 12 किलोमीटर रह जाएगी।









loading...
Post a Comment Using Facebook