22 October 2015

लडभड़ोल क्षेत्र के एक अध्यापक की शानदार पहल, घर जाकर करवा रहे बच्चों की पढ़ाई

लडभड़ोल : जब से देशभर में कोरोना की एंट्री हुई है तब से अभी तक सभी स्कूल बंद है। इस लॉक डाउन के दौरान पाठशालाएं भी बंद रहीं और कोई परीक्षा भी नहीं हुई। लेकिन लडभड़ोल क्षेत्र के भराड़पट्ट स्कूल में स्थिति कुछ दूसरी ही है। यहां एक शिक्षक सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए बच्चों को घर-घर जाकर पढ़ा रहा है।

सप्ताह में दो दिन लगा रहे कक्षाएं
दरअसल राजकीय प्राथमिक पाठशाला भराड़पट्ट के बुनियादी शिक्षक सुबोध कुमार द्वारा पाठशाला में शिक्षा ग्रहण कर रहे छात्रों को घर-घर जाकर पढ़ाने की कवायद शुरू की है। उनके द्वारा सप्ताह में 2 दिन प्रातः 9 से 11 बजे तक गांव सौं में बच्चों को पढ़ाया जाता है उसके बाद 11:30 बजे से लेकर 1:30 बजे तक गांव भराड़पट्ट, रिहडू, बराली आदि गांव के बच्चों को पढ़ाने का कार्य करते हैं।

सोशल डिस्टेंस का कर रहे पालन
सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए बच्चों का ग्रुप बनाकर पढ़ाई कराई जा रही है। इस दौरान अध्यापक सुबोध कुमार खुद भी मास्क पहनते है तथा बच्चे भी मास्क पहकर पढाई करते है। इस दौरान बच्चों की कॉपियों चैक करके वह होम वर्क तथा टेस्ट भी लेते हैं। उनके इस कार्य से क्षेत्र के समस्त अभिभावक बहुत खुश है। उनका कहना है कि सुबोध कुमार द्वारा चलाया गया यह अभियान बच्चों के भविष्य लिए कारागार साबित होगा।






loading...
Post a Comment Using Facebook