22 October 2015

एक सप्ताह में बदली गयी वर्षा शालिका की चादरें, वायरल हुई थी टपकती छत की तस्वीरें

लडभड़ोल : लडभड़ोल के मुख्य बाजार में लगभग 35 साल पहले बनाई गयी वर्षा शालिका की खराब चादरों को आखिरकार बदल दिया गया है। लोक निर्माण विभाग द्वारा बुधवार को वर्षा शालिका में खराब टिन की चादरों को निकालकर नई चादरें डाली गयी। लोगों ने विभाग की इस चुस्ती पर आभार प्रकट किया है।

चादरों से टपकता था पानी
बता दें की पिछले सप्ताह हुई भारी बारिश में वर्षा शालिका के अंदर पानी टपक रहा था। बारिश से बचने के वर्षा शालिका का रुख करने वाले लोगों को अंदर खड़े होकर भी भीगना पड़ा था। लडभड़ोल.कॉम ने खराब चादरों से टपकते पानी की तस्वीरें भी अपने कैमरे में कैद की थी जो बाद में लडभड़ोल क्षेत्र की सोशल मीडिया में वायरल हो गयी थी। तब विभाग ने बयान जारी कर जल्द से जल्द इन्हे ठीक करने का आश्वासन दिया था।

18 पंचायतों के लोगों को होगी सुविधा
वर्षा शालिका की चादरें बदलने पर लोगों ने ख़ुशी जाहिर करते हुए कहा की अभी बरसात का मौसम शुरू हुआ है और लोगों को अब इस वर्षा शालिका के अंदर दिक्क्त नहीं होगी। उन्होंने कहा की 18 पंचायतों के सैकड़ों लोग अपने रोजमर्रा के कामों के लिए लडभड़ोल आते है। अब बरसात के समय लोगों को परेशान नहीं होना पड़ेगा।






loading...
Post a Comment Using Facebook