22 October 2015

जहा चाह वहां राह : भ्रां गांव की चारु चौहान ने बारहवीं कक्षा में टॉप-10 में मारी बाज़ी

लडभड़ोल : "जहा चाह वहां राह" इसी कहावत को लडभड़ोल क्षेत्र की एक लड़की ने सच कर दिखाया है। लडभड़ोल तहसील की ऊटपुर पंचायत के भ्रां गांव की रहने वाली चारु चौहान ने यह साबित कर दिखाया कि कड़ी मेहनत और दृढ़ निश्चय ही हर विद्यार्थी को सफलता की ओर ले जाते हैं। चारु चौहान ने हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड द्वारा हाल ही में घोषित बारहवीं के परीक्षा परिणामों में टॉप 10 में कब्जा जमाकर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया है। अपनी इस उपलब्धि पर चारु ने पारम्परिक रूढ़िवादी सोच रखने वाले उन लोगों को भी जवाब दिया है जो अभी भी सोचतें है की "बेटा ही सब कुछ है"।

हिमाचल में झटका नौवां स्थान
दरअसल हिमाचल बोर्ड द्वारा घोषित परीक्षा परिणाम में 500 में से 489 अंक प्राप्त करते हुए चारु ने पुरे हिमाचल में नौवें स्थान पर कब्जा जमाया है। वह परीक्षा में टॉप करने वाले कुल्लू के छात्र प्रकाश कुमार द्वारा लिए गए कुल अंको से मात्र 8 अंक पीछे है। चारु चौहान भारती विद्यापीठ पब्लिक सीनियर सेकंडरी स्कूल बैजनाथ की छात्रा है। इस वर्ष बारहवीं की परीक्षा में 86633 छात्रों ने परीक्षा दी थी जिसमें टॉप टेन में आना अपने आप में बहुत बड़ी उपलब्धि है खासकर लडभड़ोल क्षेत्र के लिए।

इन्हे दिया सफलता का श्रेय
चारु ने अपनी सफलता का श्रेय आपने माता-पिता और अपने शिक्षकों को दिया है। चारु चौहान भविष्य में सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनकर अपने सपनों को साकार करना चाहती है। चारु के पिता चमेल चौहान वर्तमान में शिक्षा विभाग में शिक्षक के रूप अपनी सेवाएं दे रहे है वहीं उनकी माता भी निजी स्कूल में शिक्षिका है। चारु की इस उपलब्धि पर माता-पिता को गर्व महसूस हो रहा है।

क्षेत्र का मान बढ़ाया
हौसंलों के पंखों से उड़ते हुए लडभड़ोल क्षेत्र की यह बेटी उन लोगों के लिये एक मिसाल है जो बेटियों को कमज़ोर समझते हैं और अपना वंश चलाने के लिये बेटें मांगते हैं । लडभड़ोल की इस बेटी ने अपने हौसंलों से न केवल अपने परिवार व गांव का नाम रोशन किया बल्कि पुरे लडभड़ोल क्षेत्र का मान बढ़ाया है। चारु चौहान ने इससे पहले दसवीं की परीक्षा में भी मेरिट में चौथा स्थान झटका था।

फोटो में चारु शर्मा अपने चाचा के साथ






loading...
Post a Comment Using Facebook