22 October 2015

सावधान : आशा कार्यकर्ताओं को आ रहे फ़र्ज़ी कॉल, गभवर्ती महिलाओं के खाते से उड़ा रहे रुपये

लडभड़ोल : प्रदेश सरकार द्वारा गर्भवती महिलाओं को दी जाने वाली सहायता राशि के नाम पर साइबर ठगों द्वारा जिले में आशा वर्करों की आड़ लेकर महिलाओं के बैंक खातों से नकदी साफ कर चुका है। पिछले सप्ताह लडभड़ोल क्षेत्र में भी ऐसा ही मामला सामने आया था। अब आशा कार्यकर्तों को ऐसे कई फ़ोन कॉल्स आ रहे है। हेलो, मैं डॉक्टर राहुल बोल रहा हूं। अपने क्षेत्र की गर्भवती महिलाओं की जानकारी दीजिये, उनके खाते में गर्भवती महिलाओं को दी जाने वाली सहायता राशि डालनी है। ऐसे ही बातों में उलझाकर गर्भवती महिलाओं के खाते से पैसे निकालने जा रहे है।

पंजालग की महिला के खाते से उड़ाए 33 हजार
क्षेत्र की कई आशा कार्यकर्ताओं को विभिन्न नम्बरों से कॉल आ रहे है जिसमे कॉल करने वाला खुद को डॉक्टर बताकर क्षेत्र की गर्भवती महिलाओं व पहला बच्चा पैदा करने वाली महिलाओं के बैंक खातों में सहायता राशि भेजने के लिए बैंकों की जानकारी मांगते है। कुछ आशा वर्कर द्वारा गांव की गर्भवती महिलाओं की जानकारी देने के साथ ही बैंक की भी डिटेल भेज गयी । इसके कुछ देर बाद ही महिला के मोबाइल पर मैसेज आया, जिसमें बताया कि उसके खाते से 33 हजार रुपये कट गए। इसके बाद महिला ने बैंक खातों से नकदी साफ होने पर ठगी का भंडाफोड़ किया।


इस तरह दी जा रही है वारदातें
साइबर ठग आशा वर्करों से जानकारी जुटा गर्भवती महिलाओं को मिलने वाली राशि को उनके खातों से साफ कर रहे हैं। आशा वर्करों के अनुसार कॉल अलग अलग नंबर से आ रही है। कॉल करने वाला खुद को सीनियर डॉक्टर बताते हुए आशा वर्कर से क्षेत्र में गर्भवती महिलाओं से संबंधित जानकारी जुटाता है। फिर महिलाओं के पास एक ओटीपी नंबर भेजा जाता है। आटीपी नंबर जानने के बाद महिलाओं के खाते से नकदी साफ कर रहे हैं।

बिहार के नंबरों से आ रही हैं कॉल
खुद को सीनियर डॉक्टर का अधिकारी बताने वाले ठग बिहार के मोबाइल नंबरों से फोन कर साइबर ठगी की वारदात को अंजाम दे रहे हैं। ऐसी ही कुछ घटनाएं जनवरी महीने में हरयाणा में भी दर्ज़ की गयी थी। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि इन नंबरों की जांच कर पुलिस वहां दबिश देनेे भी गई थी, लेकिन वहां जाकर मालूम हुआ कि मोबाइल नंबर भी फर्जी है। ऐसे में पुलिस के लिए इन साइबरों ठगों पर शिकंजा कसना बेहद मुस्किल काम हैं।

किसी भी हाल में न दे जानकारी
लडभड़ोल तहसील के स्वास्थ्य शिक्षक श्याम सांख्यान ने कहा बहुत से बहुत से लोगों को ऐसे फ़र्ज़ी कॉल आ रहे है। उन्होंने लोगों से जागरूक रहने तथा बैंक संबधी जानकारी किसी भी हाल में नहीं देने का आह्वान किया है।





loading...
Post a Comment Using Facebook