22 October 2015

70 साल से विकास के नाम मिला धोखा, नई पंचायत बंनाने की मांग, विधायक बोले करूँगा पैरवी

लडभड़ोल : लडभड़ोल तहसील की तुलाह व खद्दर पंचायतों में आने वाले कुछ गांवों को मिलाकर बघेर में एक नई पंचायत बनाने की मांग बुलन्द हुई है। इसके लिए प्रस्ताव ग्रामीणों ने रखा है तथा इस इस बारे में विधायक प्रकाश राणा के जरिए प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को एक ज्ञापन भी प्रस्तुत किया है।

विकास के नाम पर मिल धोखा
जनकल्याण समिति के प्रधान संत राम वर्मा महासचिव चमेल सिंह राजपूत ने बताया कि इन दोनों पंचायतों को पिछड़ी श्रेणी में रखा गया है। तुलाह पंचायत के दुर्गम गांव पट्टा, बैरू, बसनोड़, डली, बघेर, ठारा, रक्तल व नौण तथा खद्दर पंचायत के तहत चघेड़, बनगोटा, मोल्थरी व रोपडू विकास की किरण से कोसों दूर हैं। कहा गया कि परिवहन, स्वास्थ्य, पेयजल व पशु चिकित्सा सुविधाओं से यह गांव महरूम हैं जबकि आजादी हासिल किए भी 70 साल से अधिक का अरसा बीत गया है। कहा गया कि शिक्षा के नाम पर भी इन गांवों से आज तक धोखा ही हुआ है।

तुलाह व खद्दर से बनेगी पंचायत
जन कल्याण समिति ने अपने ज्ञापन में कहा है कि पंचायतों के इन गांवों की दूरी करीब 7 से 10 किलोमीटर के बीच है व यातायात की व्यवस्था न होने की वजह तथा इन गांवों में मतदान केंद्र न होने के कारण मताधिकार से भी वंचित रहना पड़ता है। संत राम वर्मा व चमेल सिंह राजपूत ने बताया कि तुलाह पंचायत की जनसंख्या लगभग 28 सौ व खद्दर की आबादी लगभग 24 सौ है।

सौंपा ज्ञापन
प्रस्तावित नई पंचायत में तुलाह की 900 व खद्दर की 200 आबादी को निकालने के बाद प्रस्तावित पंचायत बघेर के लिए आवश्यक जनसंख्या करीब 1100 हो जाती है । दावा किया। गया कि इन तथ्यों को सामने रखकर ग्राम सभा तुलाह व खद्दर द्वारा इसी महीने प्रस्ताव भी पारित कर दिए हैं | जिनकी प्रतियां भी मुख्यमंत्री को भिजवाई गई हैं। प्रकाश राणा से मिले शिष्टमंडल ने उम्मीद जताई है कि मुख्यमंत्री के समक्ष वह इन पंचायतों की पूरी पैरवी करेंगे तथा पंचायतों के पुनर्गठन के दौरान बधैर पंचायत का भी अस्तित्व सामने आएगा।

विधायक ने दिया बयान
दूसरी ओर विधायक प्रकाश राणा ने भी ग्रामीणों को विश्वास दिलाया है कि वह इस गंभीर समस्या का अवश्य निराकरण करवाएंगे तथा नई पंचायत के गठन की पूरी पैरवी करेंगे।





loading...
Post a Comment Using Facebook