22 October 2015

लडभड़ोल क्षेत्र के 54 वर्षीय सुदर्शन सिंह राठौर ने मास्टर्स एथलेटिक्स टूर्नामेंट में झटके 3 पदक

लडभड़ोल : उम्र के जिस पड़ाव पर अक्सर लोग अपनी फिटनेस का बहाना बनाकर शारीरिक गतिविधिओं से हमेशा के लिए दूर हो जाते है अगर उसी पड़ाव पर कोई व्यक्ति इन सब चुनौतियों से पार पाकर एक नहीं 3-3 मेडल जीते तो हैरानी होना लाजमी है। लडभड़ोल क्षेत्र के 54 वर्षीय शारीरिक शिक्षक ने यह कारनामा करके दिखाया है।

बिलासपुर में हुई प्रतियोगिता
लडभड़ोल क्षेत्र की ऊटपुर पंचायत के लँघा गांव निवासी सुदर्शन राठौर ने बिलासपुर के केहलूर में आयोजित राज्यस्तरीय मास्टर एथलेटिक्स टूर्नामेंट में 3 मेडल जीतकर ऊटपुर सहित पुरे लडभड़ोल क्षेत्र का नाम रोशन किया है। यह प्रतोयोगिता बिलासपुर के केहलूर स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स में 9 से 11 नवम्बर तक आयोजित की गयी जिसमे प्रदेश भर के 35 वर्ष की उम्र पार कर चुके (महिला, पुरुष) खिलाड़ियों ने अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया।

ऐसे जीते पदक
सुदर्शन सिंह राठौर ने इस प्रतियोगिता में 50 से अधिक आयु वर्ग में 800 मीटर व जेवलिन थ्रो में रजत पदक जीता। इसके बाद उन्होंने लॉन्ग जम्प में भी तीसरे स्थान पर रहते हुए कास्यं पदक जीता। सुदर्शन सिंह राठौर ने वर्ष 2017 में इसी राज्यस्तरीय प्रतियोगिता में 50 से अधिक आयु वर्ग में 100 मीटर, 200 मीटर और हाई जम्प में शानदार प्रदर्शन कर तीन गोल्ड मैडल तथा 4x100 रिले दौड़ में भी कास्यं पदक जीता था। उसी वर्ष वह मास्टर एथलेटिक्स के अंतरास्ट्रीय टूर्नामेंट में मलेशिया में भारत का प्रतिनिधत्व कर चुके है।

शरीरिक शिक्षक के पद पर है तैनात
54 वर्षीय सुदर्शन सिंह राठौर वर्तमान में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला ऊटपुर में शरीरिक शिक्षक (डीपीई) के रूप में कार्यरत है। उम्र के इस पड़ाव में सुदर्शन सिंह राठौर ने एक बार फिर तीन पदक जीतकर नौजवानों के लिए मिसाल कायम की है। इस उपलब्धि पर उन्हें समस्त पंचायत के लोगों ने बधाई दी है।







loading...
Post a Comment Using Facebook