22 October 2015

लडभड़ोल में दिन दिहाड़े घर में घुसा तेंदुए का बच्चा, बच्चे की मां के हमले का अलर्ट जारी, सतर्क रहें

लडभड़ोल : लडभड़ोल के मुख्य गांव में दिन में तेंदुए का बच्चा (तेंदुआ बिल्ली) मिलने से गांववासियों में हडक़म्प मच गया। घटना रविवार की बताई जा रही है। तेंदुए के इस तरह रिहाइशी इलाके में घुसने से लोगों में डर का माहौल है। हालाँकि तेंदुए के बच्चे को वन विभाग अपने साथ गोपालपुर ले गया है। तेंदुए के बच्चे को देखने के लिए ग्रामीणों की भीड़ भी उमड़ी और बच्चों ने भी पिंजरे में बंद किये इस बच्चे के साथ फोटो भी खींचे। गोपालपुर में वन्य प्राणी डॉक्टर विपिन ने इसे तेंदुआ बिल्ली बताया है।

स्टोर में घुसा तेंदुए का बच्चा
लोगों ने तेंदुए के इस बच्चे को लडभड़ोल निवासी विनोद शर्मा के घर के आंगन के पास घूमते देखा गया। इसके बाद जब गाँव वासियों ने इसे पकड़ने की कोशिश की तो वह भाग कर देश राज शर्मा के घर में लकड़ियों के स्टोर में घुस गया। स्थानीय लोगों के विभाग को भी तेंदुए के बारे में सूचित किया। स्थानीय लोगों ने स्टोर से लकड़ियाँ हटा कर इस तेंदुए के बच्चे को पकड़ कर एक पिंजरे में बन्द किया। जिसके दौरान स्थानीय एक स्थानीय युवक को इस तेंदुए के बच्चे ने हमला कर उसके अंगूठे में काट लिया। हालांकि उनका उपचार भी कर लिया गया।

अलर्ट जारी
मौके पर पहुंचे वन अधिकारी पवन कुमार ने इस तेंदुए के बच्चे को अपने कब्जे में लिया और वहां उपस्थित स्थानीय लोगों को सतर्क रहने की सलाह दी । उन्होंने कहा की इस बच्चे की माँ भी यहीं कही आस पास होगी अतः सभी ग्रामीण रात को सतर्क रहे और बिना लाठी इंडे के घर से बहार न निकले। वह बच्चों को भी अकेले घर से बहार न भेजें। उन्होंने कहा की इस तेंदुए की उम्र 4 से 5 महीने के बीच में है। इसे पहले वेटनरी डॉक्टर को दिखाया जायेगा उसके बाद उसे फीड किया जायेगा और उसे गोपालपुर चिड़िया घर में भेज दिया जायेगा। इस घटना के बाद लडभड़ोल व उसके आसपास लगते गांवों में दहशत का माहौल है।










loading...
Post a Comment Using Facebook