22 October 2015

एक और चमत्कार : 2018 में सिमसा माता मंदिर आई थी महिला, अब दिया जुड़वा बच्चों को जन्म

लडभड़ोल : संतान दात्री माता सिमसा के दरबार में तीसरे नवरात्र पर अपने जुड़वा बच्चों को लेकर हाजरी भरने पहुंचे जिला कांगड़ा जिले की धर्मशाला तहसील के गांव पासू निवासी पूजा बाला पत्नि श्रीप्रशाद ने बताया कि गत वर्ष 2018 में वे चैत्र नवरात्रों में संतान प्राप्ति के लिये माता सिमसा के दरबार में आए थे और मां ने स्वपन्न में उन्हें संतान प्राप्ति का फल दिया था जिसके फलस्वरुप उनके घर आंगण में जुड़वा बच्चों की किलकार गुंजी।

वर्ष 2018 में मंदिर आया था दम्पति
श्रीप्रसाद ने बताया की शादी के आठ साल बीत जाने के बाद भी उन्हें संतान की प्राप्ति नहीं हो रही थी। पूजा बाला ने बताया की माता सिमसा की अपार महिमा के बारे में उन्हें उनके किसी जानने वाले ने बताया था और वे संतान की चाह में मां के दरबार में 2018 में पहुंचे थे। मां के आशीर्वाद से जन्में जुड़वा बच्चों से पूरे परिवार व रिस्तेदारों में खुशी का माहौल है साथ ही सब परिजन मां की महिमा का गुणगान करते थक नही रहे हैं।

तीसरे नवरात्र को लगाई हाजिरी
तीसरे नवरात्र उपलक्ष्य में मंगलवार को खराब मौसम और रुक-रुक कर होती रिमझिम बारिश के बीच आज वह अपने बच्चों व परिवार के साथ फिर से मां के दरबार में हाजरी भरने पहुंचे। फोटो में पूजा बाला और श्रीप्रशाद अपने जुड़वा बेटों के साथ माता सिमसा के दरबार में माथा टेकते हुए।





loading...
Post a Comment Using Facebook