22 October 2015

लडभड़ोल मुख्यालय व अन्य क्षेत्र में बंदरों ने किया लोगों का जीना हराम, लोग परेशान

लडभड़ोल : तहसील लडभड़ोल क्षेत्र में बंदरों और लंगूरों ने लोगों का जीना हराम कर रखा है, लोगों को हर समय बंदरों के आंतक के साए में रहने पर मजबूर होना पड़ रहा है, तहसील क्षेत्र का एक गांव भी इनके आतंक से अछूता नही है। आलम यह है कि आए दिन बढ़ती बंदरों की संख्या लोगों के लिये चिंता का विषय बनती जा रही है। तहसील लडभड़ोल क्षेत्र में बंदरों का आंतक कम होने का नाम नही ले रहा है। उत्पाती बंदरों की संख्या में आए दिन हो रही बढ़ोतरी से लोग परेशान हैं।

कई लोगों को कर चुके है घायल
कहीं राह चलते तो कहीं घर व दूकानों में घुस कर अब तक दर्जनों लोगों पर बंदरों ने हमला कर उन्हें घायल किया है। अंदाजा लगाया जा सकता है कि लोग अपने घर व रास्ते में भी सुरक्षित नही हैं। तहसील मुख्यालय के स्थानीय बाजार और गांव में गत दो तीन दिनों से लंगुरों के झूंड ने भी दस्तक दे रखी है। ये लंगूर आस-पास के पेड़ों में बैठे रहते हैं और लोगों के घरों की छतों पर छलागें मारते फिरते हैं। बंदर तो बंदर अब लोगों बंदरों के साथ लंगूरों का पहरा भी करना पड़ रहा है।

बंदर करते है तोड़-फोड़
बंदरों और लंगूरों के आतंक से परेशान क्षेत्र वासियों रणजीत सिंह , राम सिंह, कृष्ण सिंह, बैनी चंद श्याम सिंह बरवाल, अंचल शर्मा, विकास, जितेन, मुनीश ठाकुर, पवन कुमार ज्ञान चंद, नेहर सिंह, संजय कुमार, शीला देवी, सुनीता देवी, बीसो देवी आदि ने बताया कि हर रोज दिन भर बंदरों के झुंड घरों व दुकानों के इर्दगिर्द घूमते फिरते रहते हैं और खाने की तलाश में लोगों पर झपट पड़ते है तथा घायल कर देते हैं। बंदर जहां लोगों पर हमला कर घायल कर रहे हैं वही घरों दूकानों में घुस कर खाद्य वस्तुओं को चट कर जाते हैं, घरों दूकानों में रखे सामान को तोड़ फोड़ कर भी लोगों को नुकसान पहुंचा रहे हैं।

बंदरों के आंतक से निजात की गुहार
बंदरों से क्षेत्र के लोग बेहद परेषान हैं। लोगों का यह भी कहना है कि इस बंदरों के आंतक के डर से अधिकतर लागों ने जहां अपने घरों के नजदीक हरी सब्जी उगना बिलकुल बंद कर दिया है वहीे क्षेत्र के कई किसानों ने मौसमी फसलें भी बीजना छोड़ दिया है क्ंयोकि बंदर फसलों को उजाड़ने में भी कसर नही छोड़ते हैं। लोगों का कहना है कि आजकल तो रात के समय में भी उत्पाती बंदर घरों की छतों पर हुड़दंग मचाते रहते हैं। ऐसे में लोगों को न तो दिन में सुख मिलता है और नही वे रात को चैन की नींद सो पाते हैं। बंदरों के आंतक से परेशान क्षेत्र के लोगों ने संबधित विभाग व सरकार से इन उत्पाती बंदरों से निजात दिलाने की गुहार लगाई है।


देखें वीडियो :






loading...
Post a Comment Using Facebook